जानिये मस्तिष्क रेखा,उसके प्रकार व मानव जीवन पर प्रभाव

0
126

वेबसाईट के आर्टिकल आइये जानें हथेली की रेखाओं से अपना भविष्य(भाग-1) में हाथ की महिमा,हाथ में उपस्थित ग्रहों व रेखाओं के बारे में बताया था. इसके बाद इसी सीरीज के दुसरे आर्टिकल जानिये अपनी जीवन रेखा के बारे में,आइये जानें हथेली की रेखाओं से अपना भविष्य(भाग-2) में जीवन रेखा के बारे में बताया था.

इस आर्टिकल में आपको मस्तिष्क रेखा व उसके प्रकारों के बारे में बताया जायेगा.निम्न वीडिओ लिंक में आप मस्तिष्क रेखा के बारे में जान सकते हैं:

Original

मस्तिष्क रेखा हथेली में जीवन रेखा के बाद दूसरी मुख्य रेखा है, यह मुख्यत: अंगूठे व गुरू पर्वत के बीच में ही पाई जाती है.

मष्तिष्क रेखा

आइये अब देखते हैं इसके कौनसे प्रकार होते हैं.इसके उदगम स्थल के अनुसार इसके पांच प्रकार होते हैं जो निम्न हैं.

1.पहले प्रकार की मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के उदगम से अवतरित होती है परन्तु जीवन रेखा को काटते हुए हथेली के दुसरे छोर पर पहुँच जाती है.

मस्तिष्क रेखा प्रकार 1

ऐसी मस्तिष्क रेखा वाले प्राणी जरा जरा सी बात पर क्रोधित हो जाते हैं,दूरदर्शी नहीं होते व रोग उनको घेरे रहते हैं व इनके मित्र भी इनको धोखा दे देते हैं.

2.दूसरे प्रकार की मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के पास से अवतरित होती है व हथेली के मध्य में ख़त्म हो जाती है.

मस्तिष्क रेखा प्रकार 2

ऐसी मस्तिष्क रेखा वाले प्राणी जीवन में बड़ा पद प्राप्त करते हैं, दूरदर्शी होते हैं,कुशाग्र बुद्धि वाले होते है व यात्राओं के माध्यम से धन अर्जित करते हैं.

3.तीसरे प्रकार की मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के बराबर चलती हुई बाद में अपना रास्ता बदल लेती है.

मस्तिष्क रेखा प्रकार 3

ऐसी मस्तिष्क रेखा वाला प्राणी प्रबल आत्मविश्वासी होता है. जीवन में आय के एक से अधिक स्त्रोत होते हैं.यधपि कई बार उनके मन में हीन भावना आती है परन्तु अपने पुरुषार्थ के दम पर वह सफल हो जाते हैं.

4. चतुर्थ प्रकार की मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के पास से अवतरित होती है व हथेली के दुसरे छोर पर पहुँच जाती है.

मस्तिष्क रेखा प्रकार 4

ऐसी मस्तिष्क रेखा वाले प्राणी जीवन में अनेक बार विदेश यात्राएं करते हैं, विदेश में व्यापार से धन प्राप्त करते हैं व भौतिक दृष्टी से सुखी होते हैं.

5.पांचवे प्रकार की मस्तिष्क रेखा मस्तिष्क रेखा ह्रदय रेखा के साथ साथ चलती है.

मस्तिष्क रेखा प्रकार 5

ऐसी मस्तिष्क रेखा वाले प्राणी कठोर,निर्दयी व भावनाशून्य होते हैं व जिन हाथों में मस्तिष्क रेखा व ह्रदय रेखा लिपट गयी हो तो वह हत्यारे होते हैं.

इस आर्टिकल में इतना ही,अगर आपको आर्टिकल पसंद आया हो तो आप लाइक,शेयर कमेंट व फॉलो करे.


Infolink ads

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here