चाणक्य मोर्य वंश के महान कूटनीतिज्ञ थे.उनका ग्रन्थ चाणक्यनीति आज के युग में प्रासंगिक है.समाज में लालची, अहंकारी, मूर्ख अौर बुद्धिमान लोग रहते हैं.कलयुग में सबसे ज्यादा समस्या सीधे व सच्चे लोगों को आती है जिनकी हर किसी से लड़ाई हो जाती है इसका प्रमुख कारण है कि कलयुग में लालची, अहंकारी, मूर्ख लोगों की अधिकता होने के कारण सच बोलने वाले लोग उनसे सामंजस्य बैठा पाने में असफल रहते हैं.किसी व्यक्ति को अपने वश में किस प्रकार करें, इस बारे में चाणक्य नीति में बताया गया है.अगर आप किसी व्यक्ति को वश में कर लेंगे तो उससे आप सामंजस्य बिठा पायेंगे.

चाणक्यनीति के निम्न श्लोक में किसी भी व्यक्ति को वश में करने के तरीके बताये गए हैं:

लुब्धमर्थेन गृह्णीयात् स्तब्धमंजलिकर्मणा।

मूर्खं छन्दानुवृत्त्या च यथार्थत्वेन पण्डितम्।।

उपरोक्त श्लोक के अनुसार किसी भी व्यक्ति को उसकी प्रवृति के अनुसार वश में किया जा सकता है.

1.चाणक्य के अनुसार लालची व्यक्ति को पैसा देकर या उसकी पसंदीदा चीजों का लालच देकर वश में किया जा सकता है। ऐसा करने से आपका लालची व्यक्ति से कभी झगड़ा नहीं होगा.

2.अहंकारी व घमंडी व्यक्ति हर समय दूसरों को नीचा दिखाने का प्रयास करता रहता है। ऐसे व्यक्तिओं के सामने हाथ जोड़कर मान-सम्मान देकर सरलता से वश में किया जा सकता है। अहंकारी व्यक्ति अपने सामने झुकने वालों से प्रसन्न रहते हैं व अपनी बात मानने वालों से प्रसन्न रहते हैं.

3. चाणक्य के अनुसार मूर्ख व्यक्ति के मुताबिक कार्य करके उसे वश में किया जा सकता है। मूर्ख व्यक्ति की प्रशंसा करने से वह हमारे वश में रहेगा अौर हमें परेशान नहीं करेगा।

4. बुद्धिमान को वश में करना कठिन होता है,ऐसे लोगों को वश में करने के लिए सत्य की आवश्यकता होती है.इनके सामने सत्य बोलने वाले ही टिक सकते हैं.

अच्छे व्यवहार अौर मधुर वाणी का प्रयोग करके उपरोक्त में से किसी को भी वश में किया जा सकता है।

उपरोक्त आर्टिकल को आप निम्न वीडिओ में देख व सुन सकते हैं :

कृपया लाइक,शेयर व कमेन्ट करें.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here